56 KM Traveller PV Sindhu Biography In Hindi | पी० वि० सिंधु का जीवन परिचय

नमस्कार दोस्तों, आज हम golden girl”  के नाम से मशहूर “PV Sindhu Biography In Hindi” पढ़ने वाले हैं। इस लेख में सिंधु से जुड़ी हर जानकारी, जैसे – पी० वि० सिंधु की शिक्षा, इनका परिवार, पति, इनके चरित्र की  विशेषताएं, रोचक तथ्य, पुरस्कार एवं उपलब्धियां आदि को विस्तार से बताया गया हैं।

“पी० वि० सिंधु की जीवनी” को विस्तार में पढ़ने से पहले, हम कुछ मुख्य बिंदुओं को समझते हैं – 

56 KM Traveller PV Sindhu Biography In Hindi | पी० वि० सिंधु का जीवन परिचय
PV Sindhu Biography & Images

PV Sindhu Biography in Hindi (मुख्य बिंदु) :

  • नाम – पुसर्ला वेंकटा सिंधु (पी० वि० सिंधु)
  • जन्म दिवस – 5 जुलाई 1995 
  • पिता का नाम – पी० वि० रमन 
  • माता का नाम – पी० वि० विजया 
  • बहन का नाम – पी० वि० दिव्या 
  • पति का नाम – अविवाहित 
  • पेशा – बैडमिंटन (Badminton) खिलाड़ी 
  • राष्ट्रीय पुरस्कार – अर्जुन अवार्ड्, पद्मश्री
  • प्रशिक्षक (coach) – मेहबूब अली, पुलेला गोपीचंद 
  • लम्बाई (height) – 5 फुट 10 इंच (5′ 10”)
  • उम्र (age) – 25 साल (2021 में)

ज़रूर पढ़े – Bachendri Pal Biography in Hindi

PV Sindhu family, parents, father, mother, sister name (सिंधु का परिवार) : 

2016 के Olympics में भारत के लिए “रजत पदक” जीतने वाली “पी.वी. सिंधु” का जन्म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था। इनके पिता का नाम पी० वि० रमन हैं, और इनकी माता का नाम पी० वि० विजया हैं। इनकी एक बहन भी हैं, जिनका नाम पी० वि० दिव्या हैं। 

जैसा की हम सब जानते हैं की, सिंधु अपने खेल के प्रति बहुत समर्पित हैं, लेकिन इनके समर्पण का राज़ क्या हैं? तो इसका जवाब हैं, इनका परिवार। इनके माता – पिता दोनों ही सफल volleyball खिलाड़ी रह चुके हैं।

आप को जानकार आश्चर्य होगा की, सिंधु ने 8 वर्ष की उम्र में ही बैडमिंटन खेलना प्रारम्भ कर दिया था। इसके फलस्वरूप, इन्होनें कई राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय Badminton प्रतियोगिताएं जीत कर भारत का नाम रोशन किया। 

PV Sindhu debut (first entry) : 

वर्ष 2009 में, महज़ 13 वर्ष की आयु में सिंधु ने “Sub-junior Asian Badminton Championship”  से अपना अंतर्राष्ट्रीय debut किया था। इन्होने अपने अभी तक के करियर में कई मशहूर खिलाड़ियों को हराया हैं और कई खिताब अपने नाम किये हैं। पुसर्ला मैदान में काफी आक्रामक तरीके से खेलती हैं, और हर हाल में जीतने का प्रयास करती हैं।

इनके बेहतरीन प्रदर्शन के कारण इन्हे राज्यसरकार और कई अभिनेताओं द्वारा नगद इनाम भी मिल चुके है, लेकिन इनके जीवन की सबसे बड़ी उपलब्धि हैं, भारत सरकार की ओर से “पद्मश्री” और “अर्जुन अवार्ड” प्राप्त करना। सिंधु को कई सारे इनाम व पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चूका हैं, जिनके बारे में आगे विस्तार से जानकारी दी गई हैं।

PV Sindhu coach (प्रशिक्षक) :

माता – पिता के बैडमिंटन खिलाडी होने के कारण पुसर्ला को बचपन से ही खेल का वातावरण मिला। परन्तु, इन्होने अपने माता – पिता की पसंद volleyball को ना चुन कर, badminton को चुना।

सिंधु के इस निर्णय का कारण थे – पुलेला गोपीचंद। भारत के पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी पुलेला गोपीचंद के खेल ने, सिंधु को बड़ा प्रभावित किया। तो चलिए अब हम विस्तार से जानेंगे की, सिंधु ने किस तरह से गोपीचंद से संपर्क किया और प्रशिक्षण लिया।


PV Sindhu education and training (सिंधु की शिक्षा और प्रशिक्षण) :

इन्होने अपने खेल के साथ अपनी पढाई को भी महत्ता दी, “पुलेला गोपीचंद” से मिलने से पहले पुसर्ला ने “मेहबूब अली” से अपने खेल का प्रशिक्षण लिया। 

इन्होने सिकंदराबाद के “Indian Railway Institute of signal engineering” में मेहबूब अली से प्रशिक्षण लिया। लेकिन, यह संसथान इनके घर से 56 की० मि० दूर थी, इसलिए इन्हे सुबह जल्दी निकलना पड़ता था, ये सुबह 4:30 बजे वहाँ पहुंच जाती थी।

यहाँ कुछ घंटे अभ्यास करने के बाद, सिंधु अपने घर आती और फिर स्कूल के लिए निकल जाती। ये स्कूल में भी पूरी लगन से पढाई करती थी, दोपहर में स्कूल से घर आने के बाद, सिंधु थोड़ा आराम करती और फिर से अपनी ट्रेनिंग के लिए 56 की० मि० दूर अपने Institute पर चली जाती। इस  तरह से ये अपनी पढाई और अपने खेल के बीच एक बेहतरीन संतुलन बनाये रखती थी।

कुछ समय बीतने के बाद, इन्हे अपने आदर्श “पुलेला गोपीचंद” की badminton academy में प्रवेश मिल गया, यहाँ इन्होने अपने खेल को और भी निखारा और एक बेहतरीन खिलाड़ी के रूप में खुद को तैयार किया। गोपीचंद बताते हैं की सिंधु कभी भी हार नहीं मानती थी और हमेशा प्रयास करने के लिए तत्पर रहती थी।

PV Sindhu marriage and husband (वैवाहिक जीवन) : 

वर्तमान में इनकी उम्र 25 वर्ष हैं, और अभी इनकी शादी नहीं हुई हैं। इन्होने अभी तक, किसी के साथ भी अपने रिश्ते की बात का खुलासा नहीं किया हैं। इनका कहना हैं, की ये अभी अपने खेल पर ध्यान देना चाहती हैं। 

वैसे, जब भी इन्हे समय मिलता हे तो ये फिल्मे देखना पसंद करती हैं, और इनके पसंदीदा अभिनेता “रणवीर सिंह”, “ऋतिक रोशन” और “प्रभास” हैं।

10 lines on PV Sindhu in Hindi :

  1. इनका पूरा नाम पुसर्ला वेंकटा सिंधु हैं।
  2. इनके माता – पिता दोनों ही वॉलीबॉल खिलाडी थे, इन के पिताजी को सन् 2000 में “अर्जुन अवार्ड” से सम्मानित किया गया था।
  3. इन्होने सिर्फ 8 साल की आयु में बैडमिंटन खेलना शुरू कर दिया था।
  4. सिंधु अपनी ट्रेनिंग के लिए 56 की० मि० दूर इंस्टिट्यूट में जाती थी।
  5. इन्होने “अंडर – 10 ईयर”, “अंडर – 13 ईयर” और “अंडर – 14 ईयर” श्रेणियों में कई प्रतियोगिताएं जीती हैं।
  6. ये भारत की पहली महिला हैं, जिन्होंने ओलिंपिक्स में “रजत पदक” जीता।
  7. इन्होने दुनिया के कई बड़े खिलाड़ी, जैसे – कैरोलिना मरीन, टाई – त्ज़ू – यिंग, वांग यिहान, आदि को हराया हैं।
  8. 2017 में “कोरिया ओपन सुपर सीरीज” के फाइनल में “नोजोमी ओकुहारा” को हराकर, कोरियाई ओपन जितने वाली पहली भारतीय बानी। 
  9. इन्हे भारत सरकार द्वारा पद्मश्री और अर्जुन अवार्ड्स से सम्मानी किया जा चूका हैं।
  10. ये पहली भारतीय हे जिन्होंने, “विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप” में लगातार 2 बार मैडल जीते।

PV Sindhu achievements and awards (पुरस्कार एवं उपलब्धियां) :

सिंधु ने बहुत कम उम्र में ही कई बड़ी उपलब्धियों को हासिल किया हैं और विश्व की कई बड़ी प्रतियोगिताएं को जीतकर भारत का गोरव बढ़ाया हैंं। अब हम वर्ष के अनुसार पढ़ेंगे की, इन्होने किस वर्ष में कोनसी चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और उसमे किस चरण तक पहुँचने में सफल रही।

साल 2010 : इस वर्ष, इन्होने मैक्सिको में आयोजित, वर्ल्ड जूनियर चैंपियनशिप में भाग लिया तथा क्वार्टर फाइनल में अपनी जगह बनाने में सफल रही थी। लेकिन, इन्हे इस चरण में हार का सामना करना पड़ा था।

साल 2012 : इस वर्ष, इन्हे फुज़्हौ चाइना ओपन में खेलने का मौका मिला और इन्होने कई बेहतरीन खिलाड़ियों को हराते हुए, “सेमि – फाइनल” में अपनी जगह बनाई। 

साल 2015 : ये साल इनके लिए बहुत ही ख़ास रहा, क्यूंकि इन्होने “डेनमार्क ओपन” में लगातार 3 विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ी –  वांग यिहान, टाई – त्ज़ू – यिंग और कैरोलिना मरीन को हराकर फाइनल में प्रवेश किया था। लेकिन, फाइनल में ये, पिछले वर्ष की विजेता Li Xuerui से हार गई और इन्हे रजत पदक से सम्मानित किया गया।

साल 2016 : जब भी पी० वि० सिंधु की उपलब्धियों के बारे में चर्चा की जाती हे तो, साल 2016 के ओलंपिक्स का ज़िक्र ज़रूर किया जाता हैं। क्यूंकि इन्होने ओलंपिक्स फाइनल में पहुंचकर रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया था और ऐसा करने वाली ये पहली भारतीय बनी थी। 
इसी वर्ष, इन्होने चाइना ओपन में भी भाग लिया और फाइनल्स जीतकर सबको अचंभित कर दिया था। 

PV Sindhu medals :

साल 2017 : इस वर्ष, इन्होने 3 अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया – 
  1. इंडिया ओपन 
  2. चाइना ओपन 
  3. कोरिया ओपन 
इन् तीनो प्रतियोगिताओं में, सिंधु अपने बेहतरीन प्रदर्शन से फाइनल्स में पहुंची और तीनों में गोल्ड मैडल भी जीता। ये सिंधु के साथ – साथ हर भारतीय के लिए एक गौरव की बात रही।

साल 2018 : इस वर्ष भी इन्होने तीन स्पर्धाओं में हिस्सा लिया – 
  1. ऑल इंग्लैंड ओपन 
  2. मलेशिया ओपन 
  3. BWF वर्ल्ड टूर

ऑल इंग्लैंड ओपन और मलेशिया ओपन में इन्हे सेमि फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। साल की 2 बड़ी स्पर्धाओं में हारने के बाद, पुसर्ला ने अपने खेल पर ओर ध्यान दिया और BWF वर्ल्ड टूर के फाइनल में गोल्ड मैडल जीता।


साल 2019 : इस साल इन्होने निम्नलिखत चैम्पियनशिप्स में भाग लिया – 
  1. BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप 
  2. इंडोनेशिया ओपन 
  3. सिंगापुर ओपन 
BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप में इन्होने फाइनल जीता। इंडोनेशिया ओपन में ये सेमि फाइनल्स तक ही पहुँच सकी। और सिंगापुर ओपेन में फाइनल में हार गई।
इन्होने कई वर्ल्ड चम्पिओन्शिप्स के अलावा कामनवेल्थ गेम्स में भी काफी अच्छा प्रदर्शन किया हैं। साल 2014 में स्कॉटलैंड में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में इन्होने काँस्य पदक जीता और साल 2018 में, ऑस्ट्रेलिया में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में सिल्वर मैडल जीता था।

ज़रूर पढ़े – Lal Bahadur Shastri Biography in Hindi 


Qualities of PV Sindhu (चारित्रिक विशेषताएं) :

  • इनमे अपने खेल के प्रति पूरी लगन, निष्ठा और समर्पण का भाव हैं। 
  • मैदान में सिंधु एक आक्रामक खिलाड़ी के रूप में उतरती हैं, परन्तु असल ज़िन्दगी में वह बहुत ही कोमल स्वभाव की हैं।
  • ये अपने जीवन में कभी भी हार नहीं मानने का अभिगम रखती हैं, और हमेशा सफलता के लिए प्रयासरत रहती हैं।
  • अपनी ट्रेनिंग के लिए कई कि० मी० दूर जाना, इनका अपने खेल के प्रति लगाव को सिद्ध करता हे।
  • इनका यह मानना हैं की अगर हम अपने लक्ष्य को पाने के लिए पूरी मेहनत करते हैं, तो हम एक दिन उसे हासिल कर सकते हैं।

Unknown facts and prize money (सिंधु से जुड़े रोचक तथ्य) : 

  • अपने माता – पिता के महान वॉलीबॉल खिलाड़ी होते हुए भी इन्होने बैडमिंटन को चुना।
  • ये सुबह 4:30 बजे, अपने ट्रेनिंग सेंटर पहुंच जाती थी।
  • अपने बचपन में, वे एक डॉक्टर बनना चाहती थी।
  • इन्होने महज़ 13 वर्ष की उम्र में अपना अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू कर लिया था, और कई प्रतियोगिताएं भी जीती थी।
  • वर्ष 2010 में ही इन्हे “भारतीय राष्ट्रीय टीम” की  सदस्यता मिल गई थी।
  • ये “प्रीमियर बैडमिंटन लीग (PBL)” में “चेन्नई स्मैशर्स” की कप्तान भी रह चुकी हैं और 2016 में इनकी टीम ने फाइनल भी जीता था।
  • साल 2015 में, “मकाओ ओपन” जीतने पर “भारतीय बैडमिंटन संघ” ने इन्हे 10 लाख रूपए इनाम में दिए थे।
  • वर्ष 2016 में, “मलेशिया मास्टर्स” जीतने पर इन्हे 5 लाख रूपए इनाम में दिए गए थे।
  • ओलंपिक्स के लिए चुने जाने पर अभिनेता “सलमान खान” ने इन्हे 1 लाख रूपए, इनाम के रूप में दिए थे।
  • वर्ष 2015 में इन्होने “डेनमार्क सुपर सीरीज़” में विश्व के 3 सबसे बेहतरीन खिलाड़ियों को हराकर फाइनल्स में अपनी जगह बनायीं थी।  
  • इन्होने 2013, 2014 और 2015 में लगातार तीन बार स्वर्ण पदक जीता। 

FAQs on PV Sindhu :

Q1. पी वि सिंधु कहाँ से पढ़ी हे?
Ans: 
  • B.Com – Chennai Vels University
  • MBA – St. Ann Women’s College, Hyderabad
Q2. पी वि सिंधु को “अर्जुन अवार्ड” से कब सम्मानित किया गया था?
Ans: 24 सितम्बर 2013
Q3. पी वि सिंधु की प्रेरणा क्या हैं?
Ans: पुलेला गोपीचंद।
Q4. पी वि सिंधु ने Rio Olympics में कोनसा medal जीता?
Ans: Silver Medal (रजत पदक)
Q5. Which day is celebrated as P V Sindhu birthday?
Ans: 5 July
Q6. How many hours PV Sindhu sleep in a day?
Ans: 6 hours.
Q7. How many matches P.V. Sindhu has worn from 2008 to 2019?
Ans: Wins – 337, Lost – 146
Q8. Is PV Sindhu rich by birth?
Ans: No, she was born in a middle class family of Heyderabad.
Q9. P.V. Sindhu Mother name and her occupation.
Ans: PV Vijya – Badminton player.
Q10. PV Sindhu monthly salary.
Ans: 15 lakh Rs.

Final words on PV Sindhu Biography In Hindi (निष्कर्ष) :

तो दोस्तों, आज हमने आपको “PV Sindhu biography in hindi” बताई, जो की बहुत ही प्रेरणादायक हैं। इनके जीवन के बारे में पढ़कर ये पता लगता हे, की अगर हम सही दिशा में मेहनत करते हैं तो हमारे लक्ष्य तक आसानी से पहुँच सकते हैं। 
इस लेख में पी.वी सिंधु के जीवन परिचय के साथ – साथ इनके निजी जीवन से जुड़ी जानकारी जैसे –  PV Sindhu family, parents, father, mother, sister name, marriage and husband आदि की जानकारी दी गई। 
इनके coach, education and training, achievements and awards, medals आदि के बारे में संक्षिप्त में समझाया गया। 
अगर आपको भी ये लेख, प्रेरणादायक लगता हे तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ ज़रूर साझा करें। इस लेख को पूरा पढ़ने के लिए आप का धन्यवाद।

Leave a Comment